राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना 2024 क्या है और इसका लाभ कैसे उठाये?

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एक पहल है जो ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी की उन्मूलन के लिए बनाई गई है। इस मिशन का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में आत्मनिर्भरता और आजीविका सुरक्षा को बढ़ावा देना है। NRLM को वर्ष 2011 में लॉन्च किया गया था, और इसे अब ‘आजीविका मिशन’ के नाम से भी जाना जाता है। यह योजना स्वरोजगार को बढ़ावा देने और ग्रामीण गरीबों के संगठन पर केंद्रित है। इसका संचालन केंद्र सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा किया जाता है। वर्ष 1999 में, एकीकृत ग्रामीण विकास कार्यक्रम (आईआरडीपी) के पुनर्गठन के बाद, ग्रामीण विकास मंत्रालय (एमओआरडी) ने ग्रामीण गरीबों के बीच स्वरोजगार को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए स्वर्णजयंती ग्रामीण स्वरोजगार योजना ( एसजीएसवाई ) शुरू की।

एसजीएसवाई को अब NRLM के रूप में पुनर्निर्मित किया गया है, जिससे एसजीएसवाई कार्यक्रम की कमियों को दूर किया जा सकेगा। यह कार्यक्रम ग्रामीण विकास मंत्रालय के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है। इस योजना के माध्यम से बेरोजगारी को कम करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मुहैया कराए जायेंगे। ताकि ग्रामीण क्षेत्र के लोगो को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार उपलब्ध हो सके और उन्हें शहरों के लिए पलायन न करना पड़े। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से National Rural Livelihoods Mission से संबंधित संपूर्ण जानकारी विस्तार के बता रहे है। क्रप्या इस आर्टिकल को अंत तक पढियें।

National Rural Livelihood Mission Scheme 

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (National Rural Livelihoods Mission, NRLM) भारत सरकार ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा चलाई जाने वाली एक महत्वपूर्ण ग्रामीण विकास योजना है। जिसका लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम करना और गरीबों को सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त बनाना है। इसे “आजीविका मिशन” के नाम से भी जाना जाता है। 2 9 मार्च, 2016 से एनआरएलएम का नाम बदलकर DAY-NRLM (दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन) रखा गया। यह मिशन ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब और असहाय वर्ग के लोगों को उनके ही गांव में रोजगार एवं आय के स्रोत उपलब्ध करने का माध्यम है ताकि गरीब परिवारों को आजीविका हेतु रोजगार प्रदान कर आत्मनिर्भर बनाया जा सके। NRLM के माध्यम से विश्व बैंक द्वारा वित्तीय सहायता दी जाती है। वर्तमान समय में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन – दीनदयाल अंत्योदय योजना (DAY – NRLM) के नाम से भी जाना जाता है।

इस योजना हेतु अब तक स्वयं सहायता समूहों (SHG) के माध्यम से देश भर में लगभग 600 जिलों, 6000 प्रखंडों, 2।5 लाख ग्राम पंचायतों और 6 लाख गांव के लगभग 7 करोड़ BPL परिवारों को को इस दायरे में लाने का कार्य किया जाएगा। ताकि ग्रामीण उत्पादकों को अधिक विकास और आय मिल सके। इस योजना के तहत सरकार द्वारा 8 से 10 साल की अवधि में ग्रामीण गरीब जनता को अजीविका के लिए आवश्यक साधन इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रदान किए जाएंगे। यह कार्यक्रम ग्रामीण विकास मंत्रालय के प्रमुख कार्यक्रमों में से एक है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन SHG क्या है

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत, आत्मनिर्भरता संगठन (Self Help Groups – SHG), ग्रामीण स्वरोजगार गांव और अन्य सामाजिक और आर्थिक विकास कार्यक्रमों का समर्थन किया जाता है। यह मिशन गरीबी की समस्या को हल करने के लिए एक समृद्धि मार्ग प्रदान करने का प्रयास करता है। ग्रामीण क्षेत्र की 10 या 20 गरीब महिलाओं को संगठित कर स्वयं सहायता समूह का निर्माण किया जाता है, इन महिला समूह को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कम ब्याज दर पर सरकार द्वारा बैंक के माध्यम से लोन उपलब्ध करवाया जाता है। आपको बता दें की इस समूह में ग्रामीण क्षेत्र की एक समान आय वाली महिओं को शामिल किया जाता है। NRLM के अंतर्गत, ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओ को आर्थिक सशक्तिकरण, आत्मनिर्भरता, विकास प्रशिक्षण, समृद्धि स्तर गांवों की पहचान, और अन्य विकास प्रोजेक्ट्स को समर्थन प्रदान किया जाता है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना

Highlights of National Rural Livelihood Mission Scheme 

आर्टिकल का नामNational Rural Livelihoods Mission
किसने शुरू कियाकेंद्र सरकार ने
सम्बंधित मंत्रालयग्रामीण विकास मंत्रालय
उद्देश्यग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम करना और गरीबों को सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त बनाना
लाभार्थीग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवार
साल2024
योजना का नामDAY-NRLM (दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन)
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटnrlm.gov.in

SHG क्या है?

भारत में, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (NRLM) के तहत SHG को समर्थन प्रदान किया जाता है और इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम करना और आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना है। SHG का मतलब है “सेल्फ हेल्प ग्रुप” (Self Help Group)। SHG महिलाओ का एक समूह होता है इसमें ग्रामीण क्षेत्र की एक समान आय वाली 10 से 20 महिलाओं के समूह बनाए जाते हैं जिन्हें स्वयं सहायता समूह कहा जाता है।ये समूह आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मिलकर काम करते है SHG के सदस्य आमतौर पर एक ही समाज, क्षेत्र, गाँव, या विस्तार से आएगे और उनमें से अधिकांश गरीब वर्ग के लोग होते हैं। इन समूहों के सदस्य सामूहिक रूप से उत्पन्न आर्थिक लाभ को बाँटते हैं और इस समूह के अंतर्गत सदस्य एक दूसरे का समर्थन करते हैं और आपसी सहायता के माध्यम से आत्मनिर्भर बनते हैं।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन का उद्देश्य

National Rural Livelihoods Mission का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम करना और ग्रामीण जनसंख्या को आत्मनिर्भर बनाना है। इस मिशन के माध्यम से ग्रामीण लोगों को आर्थिक सुरक्षा, जीविका सुरक्षा, और सामाजिक समावेश में सुधार करने का प्रयास किया जाता है। NRLM के उद्देश्यों में शामिल हैं

  • ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब और असहाय वर्ग को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकसित करना।
  • समृद्धि स्तर गाँवों में सामाजिक समावेश बढ़ावा देना और समृद्धि संगठनों की स्थापना करना ताकि विभिन्न समुदायों को एक साथ मिलकर काम करने का मौका मिले।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना और ग्रामीण लोगों को स्वरोजगार और अन्य आर्थिक गतिविधियों के लिए समर्थन प्रदान करना।
  • ग्रामीण उत्पादों को संबंधित उपायों को बढ़ावा देना और उत्पादकों को अधिक आय प्राप्त करने का समर्थन करना।
  • गरीबी की स्थिति से बाहर निकलने के लिए वित्तीय सहायता और अनुदान प्रदान करना।

NRLM बैंक लिंकेज

NRLM का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बैंक लिंकेज है। NRLM ने ग्रामीण क्षेत्रों में आत्मनिर्भरता संगठन को बैंकों से जोड़ने का कार्य किया है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन ने इसके माध्यम से लाखों SHG को बैंकों से जोड़ा है और इसका मकसद ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक समर्थन को बढ़ावा देना है।इस योजना के माध्यम से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को आजीविका चलाने हेतु स्वरोजगार की स्थापना में सहायता देने के लिए बैंक से जोड़ा जाता है। और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कम ब्याज दरों पर सरकार द्वारा बैंक के माध्यम से लोन उपलब्ध करवाया जाता है। इस समूह में ग्रामीण क्षेत्र की एक सम्मान आय वाली महिलाएं को योजना के तहत रोजगार प्रदान करने का कार्य दिया जाता है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के लाभ

  • NRLM के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब और असहाय वर्ग को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा रहा है।
  • NRLM के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए कई प्रोजेक्ट्स और योजनाएं चलाई जा रही हैं।
  • जिससे लोगो को रोजगार प्राप्त हो सकें। और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हो।
  • देश की गरीब ग्रामीण जनता को National Rural Livelihood Mission के द्वारा स्वरोजगार प्राप्त होता है।
  • NRLM गरीबी की स्थिति से बाहर निकलने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करता है।
  • ग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवारों को इस मिशन के तहत बैंक द्वारा आसानी से लोन प्रदान किया जाता है।
  • राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत स्वंय सहायता समूह की महिलाओ को भी शामिल कर उन्हें स्वरोजगार प्रदान किया जाएगा।
  • NRLM ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृष्टि को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चला रहा है। इससे ग्रामीण लोगों को अधिक रोजगार के अवसर मिल सकते है।
  • NRLM ग्रामीण उत्पादकों को अधिक विकास और आय मिल प्रदान करने के लिए उच्चतम प्राथमिकता देता है।
  • NRLM के तहत प्रत्येक समूह को प्राथमिकता समर्थन के लिए 10,000 रुपए की धनराशि दी जाएगी।
  • जहां तक सरकारी नौकरी योजनाएं नहीं पहुंच पाती है ऐसे गांव में समूह के माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।
  • इसके माध्यम से लोगो को आत्मनिर्भर बनाया जायेगा।
  • इन लाभों के माध्यम से NRLM यह प्रयास कर रहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम किया जाए और लोगों को आत्मनिर्भरता की दिशा में मदद की जाए।
पात्रता एवं आवश्यक दस्तावेज
  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी से प्रभावित लोग इस मिशन के लाभ का हिस्सा बन सकते हैं।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • BPL राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता
राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बैंक लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?
  • सबसे पहले आपको राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन Official Website पर जाना होगा।
  • आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।

National Rural Livelihoods Mission Scheme

  • इस होम पेज पर आपको Quick Links के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके अंतर्गत SHG Bank Loan के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

  • जहां पर आपको फॉर्म भरने के लिए तीन चरणों को पूरा करना होगा और सभी में यूजर आईडी पासवर्ड और कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

  • तीनों चरणों को पूरा करने के बाद आपको Login के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • Login पर क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जायेगा।
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को सही – सही दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आपने दस्तावेजो को फॉर्म के साथ अपलोड करना होगा।
  • विवरण पूर्ण हो जाने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आपका बैंक लोन के लिए आवेदन हो जायेगा।
Bank Linkage देखने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन Official Website पर जाना होगा।
  • आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको Quick Links के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके अंतर्गत Bank Linkage के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

NRLM Mission Scheme

  • इस विकल्प पर क्लिक करने पर आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आप बैंक लिंकेज देख सकते है।
Official LinkApply Now
प्रधानमंत्री योजना लिस्टApply Now
ModiScheme HomepageApply Now


Discover more from Modi Scheme

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Comment

Discover more from Modi Scheme

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading