मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना क्या है जानिए आवेदन कैसे करे?

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना शुरू करने की घोषणा की है। आदिवासी उत्सवों के गरिमामय आयोजन के लिए राज्य सरकार इसके तहत ग्राम पंचायतों को अनुदान प्रदान करेगी। इस योजना के शुभारंभ के बाद, राज्य के मुख्यमंत्री ने पहली किस्त के रूप में बस्तर संभाग की 1,840 ग्राम पंचायतों में से प्रत्येक को 5,000 रुपये वितरित किए। आज के लेख में हम आपको जो कुछ जानने की जरूरत है, उसके बारे में जानेंगे। छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री ने राज्य के अनुसूचित जनजाति के नागरिकों को लाभ प्रदान करने के लिए 13 अप्रैल को योजना शुरू की। राज्य सरकार इस योजना के तहत आदिवासी त्योहारों और त्योहारों को मनाने के लिए ग्राम पंचायतों को अनुदान प्रदान करेगी, जिसे राज्य के सभी अनुसूचित क्षेत्रों में लागू किया जाएगा। इस योजना के समुचित संचालन के लिए राज्य सरकार के वित्तीय वर्ष के बजट में 5 करोड़ रुपये का बजट भी निर्धारित किया गया है। इस योजना के शुरू होने से हर साल राज्य के गांवों में अनुसूचित जनजाति के नागरिकों के त्योहार अच्छे से मनाये जायेंगे।

मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना

Details of CM Tribal Parab Samman Nidhi Yojana 

योजना का नाम Mukhyamantri Adivasi Parab Samman Nidhi Yojana
उद्देश्य राज्य के सभी अनुसूचित जनजाति के नागरिको के उत्सवों और परंपरा को सुरक्षित रखना
लाभार्थी छत्तीसगढ़ राज्य के अनुसूचित जनजाति के नागरिक 
आरम्भ की गई श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
वर्ष 2024
आवेदन की प्रक्रिया जल्द जारी की जाएगी
श्रेणी छत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट जल्द ही आरंभ की जाएगी

मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना में शामिल त्योहार

  • मेला
  • मड़ई
  • छेरछेरा
  • अक्ती
  • नवाखाई
  • हरेली 
  • जात्रा पर्व
  • सरना पूजा
  • देव गुड़ी आदि।

CG Mukhymantari Adivasi Parab Samman Nidhi Yojana का उद्देश्य

इस योजना का प्राथमिक लक्ष्य राज्य के सभी अनुसूचित जनजाति नागरिकों के त्योहारों और परंपराओं की रक्षा करना है। इस योजना के परिणामस्वरूप राज्य के अनुसूचित जनजाति के नागरिकों के सभी त्योहार और उत्सव अपने मूल स्वरूप को बनाए रखने में सक्षम होंगे, साथ ही आदिवासी संस्कृति और परंपराओं की रिकॉर्डिंग को भावी पीढ़ियों तक स्थानांतरित किया जाएगा। राज्य सरकार इस के माध्यम से सभी ग्राम पंचायतों को दो किस्तों में 10,000 रुपये का अनुदान प्रदान करेगी।

लाभ और विशेषताएं

  • यह सहायता राशि सभी अनुसूचित क्षेत्रों के गांवों में सभी अनुसूचित जनजाति के लोगों के त्योहारों और उत्सवों को मनाने के लिए खर्च की जाएगी, जिससे आदिवासी संस्कृति और परंपरा की रक्षा होगी।
  • इसके समुचित क्रियान्वयन के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नोडल एजेंसी होंगे।
  • छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 13 अप्रैल, 2023 को मुख्यमंत्री आदिवासी पारब सम्मान निधि योजना का शुभारंभ किया।
  • राज्य सरकार ने राज्य की 1840 ग्राम पंचायतों को पहली किस्त का भुगतान किया।
  • यह सहायता राशि सभी अनुसूचित क्षेत्रों के गांवों में सभी अनुसूचित जनजाति के लोगों के त्योहारों और उत्सवों को मनाने के लिए खर्च की जाएगी, जिससे आदिवासी संस्कृति और परंपरा की रक्षा होगी।
  • राज्य सरकार इस योजना के तहत आदिवासी त्योहारों को मनाने के लिए सभी ग्राम पंचायतों को अनुदान प्रदान करेगी।
  • इस योजना के तहत हर साल आदिवासी समाज के त्योहार मनाने के लिए 10,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के समुचित संचालन को सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार ने वित्तीय वर्ष 2024 के लिए 5 करोड़ रुपये का बजट रखा है।
  • आदिवासी समाज के त्योहारों को महत्व मिलेगा और राज्य में भेदभाव जैसी अवधारणाएं कम होंगी।

छत्तीसगढ़ बालवाड़ी योजना

मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया?

योजना 13 अप्रैल को छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई थी, लेकिन आवेदन प्रक्रिया और आधिकारिक वेबसाइट अभी तक राज्य सरकार द्वारा जारी नहीं की गई है। जैसे ही राज्य सरकार इस योजना के बारे में कोई जानकारी सार्वजनिक करेगी, हम उसे इस लेख के माध्यम से आपको उपलब्ध करा देंगे।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्वल्पाहार योजना

Official Link Click Here
ModiScheme Homepage Click Here

Leave a Comment