मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना राजस्थान 2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

राजस्थान सरकार द्वारा बच्‍चों में कुपोषण के बढ़ते मामले को देखते हुए, एक नई योजना की शुरुआत की जा रही हैं जिसका नाम मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना हैं प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से कक्षा एक से 8 तक के बच्चों को निशुल्क दूध उपलब्ध कराया जाएगा। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से सारी जानकारी उपलब्ध कराएंगे, जैसे योजना का लाभ, उद्देश्य, पात्रता एवं दस्तावेज आदि की सभी जानकारी को प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल  को अंत तक अवश्य पढ़ें।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 29 नवंबर 2022 को सिविल लाइन जयपुर में इस योजना की शुरुआत की गई हैं। राज्य सरकार द्वारा  राजस्‍थान मुख्‍यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के विद्धार्थियों को दूध का वितरण किया जाएगा साथ ही कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। Mukhyamantri Bal Gopal Yojana के तहत मिड डे मील से जुड़े राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, इसके आलावा मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में राज्य सरकार द्वारा पाउडर वाला दूध उपलब्ध कराया जाएगा। सप्ताह में दो बार अर्थात मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को दूध उपलब्ध कराया जाएगा जिसमे राज्य सरकार की ओर से  इस योजना के अंतर्गत करीब 69 लाख 22 हजार बच्चों को मिल्क पाउडर उपलब्ध कराने की घोषणा की जा रही हैं ।

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना राजस्थान

Highlights of Mukhyamantri Bal Gopal Yojana

योजना का नामMukhyamantri Bal Gopal Yojana
राज्यराजस्थान
उद्देश्यछात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध का वितरण करना
शुभारंभ29 नवंबर 2022
लाभार्थीकक्षा 1 से 8 तक के बच्चे
शुरू की गईमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
साल2024

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना राजस्थान का उद्देश्य

प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के नागरिको को सुविधा प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण योजनाओ का संचालन समय – समय पर किया जा रहा हैं। ऐसी ही एक योजना Mukhyamantri Bal Gopal Yojana हैं। जिसे राजस्थान सरकार द्वारा हाल ही में शुरू किया गया हैं. राज्य सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध का वितरण करना है साथ ही कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के बच्चों को कुपोषण से रोकने के लिए पाउडर मिल्क से तैयार दूध सप्ताह में दो बार उपलब्ध करवाया जाएगा। अब इस योजना के माध्यम से बच्चों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त दूध मिलने से स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। जिसके तहत स्‍कूलों में पढ़ने वाले बच्‍चों में कुपोषण ग्रस्‍त होने के मामले  में कमी आएगी।

मुख्यमंत्री के तहत दूध की मात्रा

कक्षा स्तरपाउडर मिल्क की मात्रा (प्रति छात्र)       तैयार दूध की मात्रा (प्रति छात्र)चीनी की मात्रा  
प्राथमिक (कक्षा एक से 5 तक)15 ग्राम    150 मिलीमीटर8.4 ग्राम
उच्च प्राथमिक (कक्षा 6 से 8 तक)20 ग्राम200 मिलीमीटर10.2 ग्राम

लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना का वितरण मिड डे मील की सहायता से हर जिले में मिल्क पाउडर बांटा जाएगा।
  • साथ ही मिल्क पाउडर का वितरण आरसीडीएफ द्वारा प्रत्येक विद्यालय में जाकर किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत सप्‍ताह में 2 बार यानि मंगलवार तथा शुक्रवार को दूध का सेवन कराया जायेगा।
  • इस योजना से सरकारी स्‍कूलों / मदरसों / संस्‍कृत विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र – छात्राएं लाभार्थी होंगीं।
  • प्रदेश सरकार द्वारा राज्‍य के स्‍कूलों में सूखे दूध की आपूर्ति राजस्‍थान को-ऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड के द्धारा की जायेगी।
  • राज्य सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत बच्चों को दूध देने की जिम्मेदारी विद्यालय प्रबंधन की होगी।
  • दूध से बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास में तीव्र गति होगी एवं बीमारियों से भी दूर रहेंगे।
  • इसके आलावा कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर बच्चे मानसिक एवं शारीरिक रूप से मजबूत बनेगें।
  • राजस्थान के लगभग 60 लाख बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • साथ ही इस योजना के तहत बच्चे स्कूल में दाखिला लेने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे शिक्षा ग्रहण करने में भी सुधार होगा।
  • सबसे जरूरी विद्धार्थियों को दूध पिलाने से पूर्व नियम के तहत एक शिक्षक व एक विद्धार्थी के अभिभावक के द्धारा दूध को चखना अनिवार्य रहेगा।
पात्रता
  • प्रदेश द्वारा इस योजना का लाभ राज्य के मूल निवासी को ही दिया जाएगा।
  • ट्रेनिंग सेंटर में अध्ययनरत छात्र-छात्राएं योजना के पात्र होंगी।
  • राजस्थान के कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के सभी बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना

जरूरी दस्‍तावेज
  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • चालू मोबाइल नंबर

राजस्थान कृषक उपहार योजना

Official LinkApply Now
प्रधानमंत्री योजना लिस्टApply Now
ModiScheme HomepageApply Now

 


Discover more from Modi Scheme

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Comment

Discover more from Modi Scheme

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading