एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, लाभ?

बिहार सरकार द्वारा हाल ही में एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना की शुरुआत की जा रही हैं। प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से कृषि को बढ़ावा दिया जा रहा हैं. कृषि और किसान कल्याण, मंत्रालय द्वारा सभी बागवानी फसलों को मिलाकर Ekikrit Bagvani Vikas Mission Yojana में शामिल किया गया है। जिसका अर्थ है सभी बागवानी फसलों को एक साथ इकट्ठा करना। अगर आप बिहार राज्य के किसान हैं तो आपको हमारे इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ना होगा, क्योकि आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के बारे में सभी जानकारी विस्तार से दे रहें हैं।

Ekikrit Bagvani Vikas Mission Yojana

वित्तीय वर्ष 2014 में एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना (MIDH) को बिहार सरकार द्वारा शुरू किया गया हैं। बिहार सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के फलों, सब्जियों, मसाले, मशरूम, जड़ कंद फसलों, फूल व सुगंधित पौधों, नारियल, काजू, बादाम और कोको, बांस, मधुमक्खी पालन, जैविक खेती, बागवानी यंत्रीकरण इत्यादि को शामिल किया गया हैं। साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा किसानो की इन सभी फसलों को सुरक्षित भंडारण करने के लिए अनुदान (सब्सिडी) प्रदान की जा रही हैं। प्रदेश सरकार की ओर से दी जाने वाली यह अनुदान राशि कुल बजट का 85% भारत सरकार वहन करेगी। बाकी का 15% राज्य सरकार द्वारा अनुदान किया जाएगा। ताकि राज्य के किसानो को किसी आर्थिक समस्या का समाना ना करना पड़े।

एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना

बिहार के किसानो को सुविधा प्रदान करने तथा कृषि के लिए प्रोत्साहन करने के लिए बिहार सरकार द्वारा आंवले की खेती पर 50% तक की सब्सिडी दी जा रहीं हैं। साथ ही मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत किसानो को एक हेक्टेयर में आंवले की खेती के लिए 60 हजार रुपए की इकाई निर्धारित की जाएगी। जिसमें से 50% यानी 30 हजार रुपए की सब्सिडी किसानो को मिलेगी। क्योकि आंवले के पौधे लगाने के 3 से 4 साल बाद इस पर फल आने शुरू होते हैं जिससे आंवले की खेती करने पर किसानो को रोजगार मिलेगा। अब इस योजना के तहत किसान 8 से 9 साल तक आंवले की खेती में 1 क्विंटल तक उत्पादन कर सकते हैं। जिससे उनके रोजगार को बढ़ावा मिलेगा। और वह आर्थिक रूप से मजबूत बनेगें।

एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना

Overview of Ekikrit Bagvani Vikas Mission Yojana

योजना का नामएकीकृत बागवानी विकास मिशन (एम.आई.डी.एच.)
विभागकृषि विभाग, बिहार सरकार
लेख का प्रकारसरकारी योजना
लेख का नामएकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना
कितने प्रतिशत की सब्सिडी दी जायेगी?75% से लेकर 90% की सब्सिडी
आवेदन का माध्यमऑनलाइन
लाभार्थीकिसान
साल2024

एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना का उद्देश्य

कृषि को बढ़ावा देने के लिए किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना का संचालन किया गया हैं। बिहार सरकार द्वारा एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बागवानी किसानों को समूहों में एकत्रित करना और बागवानी क्षेत्र के चौमुखी विकास को बढ़ावा देना हैं। प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई यह योजना एक सराहनीय योजना हैं। जैसा की हम सभी जानते हैं की बागवानी में सभी प्रकार के फलों, सब्जियों और सजावटी पौधों सहित उद्यान फसलों को शामिल किया जाता हैं। प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत किसानो को सब्सिडी प्रदान की जा रही हैं। ताकि किसानो को किसी आर्थिक समस्या का समना ना करना पड़े।

बिहार में भी दी जा रही है सब्सिडी

हम आपको बता दें की बिहार सरकार द्वारा किसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जा रही हैं। साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत 75% की सब्सिडी उपलब्ध कराई जा रही हैं। इस योजना के तहत किसानो को दी जाने वाली सहायता राशि सरकार द्वारा 18.75 लाख रुपए निर्धारित की गई हैं। ताकि किसानो को आर्थिक रूप से मजबूत बनाया जा सके।

Ekikrit Bagvani Vikas Mission Yojana का लाभ
  • एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना की शुरुआत किसानो को सहयता प्रदान करने के लिए की गई हैं।
  • इस योजना के तहत कुल बजट का 85% भारत सरकार द्वारा अनुदान दिया जाएगा। शेष 15% राज्य सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है।
  • वहीं दूसरी तरफ इस योजना के तहत  बिहार राज्य के प्रत्येक अनुसूचित जाति / जनजाति  के मधु – मक्खी पालको को पूरे 90% की सब्सिडी प्रदान की जायेगी,
  • अब इस योजना का लाभ प्राप्त करके राज्य के किसान आत्मनिर्भर बनेगें।
  • बिहार सरकार द्वारा आंवले की खेती करने पर 50% तक की सब्सिडी किसानो को दी जा रही हैं।
  • जिससे बागवानी क्षेत्र को और मजबूत बनाया जा सकेगा।
  • सब्सिडी का लाभ प्राप्त करके किसान आत्मनिर्भर बनेगें।
  • लाभार्थी कृषि विभाग की वेबसाइट horticulturebihar.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • यह योजना भारत सरकार द्वारा केंद्रीय रूप से प्रायोजित की हुई एक योजना हैं।
  • राष्ट्रीय बागवानी मिशन का उद्देश्य बागवानी उत्पादन में सुधार करना है.
राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना के प्रमुख घटक
  • राष्ट्रीय बागवानी मिशन (NHM)
  • नारियल विकास बोर्ड (CDB)
  • राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड (NHB)
  • केंद्रीय बागवानी संस्थान (CIH) नागालैंड
  • पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्यों के लिए बागवानी मिशन (HMNEH)
एमआईडीएच की उपयोजनाएं
क्रम संख्याउप-योजना का नामविवरणसंचालन का क्षेत्र
1राष्ट्रीय बागवानी मिशन (एनएचएम)National Horticulture Mission राज्य बागवानी मिशनों द्वारा कार्यान्वित किया जाता हैराष्ट्रीय बागवानी मिशन पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्यों को छोड़कर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में चालू है
2राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड (एनएचबी)राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में एमआईडीएच (midh full form in hindi) के तहत कई योजनाएं लागू करता हैसभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश वाणिज्यिक बागवानी पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं
3पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्यों के लिए बागवानी मिशन (HMNEH)पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्यों के लिए राज्य बागवानी मिशन इसे लागू करते हैंसभी पूर्वोत्तर और हिमालयी राज्य
4नारियल विकास बोर्ड (सीडीबी)यह भारत के सभी नारियल उत्पादक राज्यों में एमआईडीएच (midh full form in hindi) चलाता हैसभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश जहां नारियल की खेती की जाती है
5केंद्रीय बागवानी संस्थान (सीआईएच), नागालैंडयह बागवानी के क्षेत्र में उत्तर-पूर्व के किसानों को प्रशिक्षण और क्षमता विकास प्रदान करता हैउत्तर-पूर्वी राज्य, जो मानव संसाधन विकास और क्षमता निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं
6राष्ट्रीय बांस मिशन (एनबीएम)बांस क्षेत्र के समग्र विकास के लिएसभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश
Important Documents
  • आधार कार्ड
  • खाता, खसरा नकल
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया
  • इसके लिए आप सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएंगे।
  • वहां जाने के बाद आपको एक होम पेज दिखाई देगा।
  • आपको इस होम पेज पर किसान का DBT पंजीकरण संख्या को दर्ज करना हैं।
  • अब आपके सामने फार्मर रजिस्ट्रेशन का फॉर्म खुल जाएगा
  • आपसे इस फ़ार्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही सही भरना हैं।
  • अंत में आपको सभी जानकारी को भरने के बाद सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना हैं।
  • जिसके बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर किसान का बेनिफिशियरी रजिस्ट्रेशन नंबर आ जाएगा।
  • इसे आप अपने पास भविष्य के लिए संभाल कर रखे।
Official LinkApply Now
प्रधानमंत्री योजना लिस्टApply Now
ModiScheme HomepageApply Now


Discover more from Modi Scheme

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Comment

Discover more from Modi Scheme

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading